संदिग्ध परिस्थितियों में मृत मिली भीमा कोरेगांव कांड की चश्मदीद गवाह

0
435

कुछ ही समय पहले ​हुए दलित जातीय संघर्ष के कारण भीमा कोरेगांव पूरे देश में चर्चा का विषय बन गया था. रविवार की सुबह 11 बजे भीमा गांव के पास कुएं में 19 साल की लड़की की लाश मिलने से सनसनी फैल गई. ये कुआं दंगा पीड़ितों के लिए बनाए गए राहत कैंप के पास स्थित है. बताया गया कि मरने वाली लड़की उस कांड की चश्मदीद गवाह थी. उसने दंगाइयों को अपना घर और दुकान जलाते हुए देखा था.

मृतक लड़की की शिनाख्त पूजा सकत के तौर पर हुई. वह कक्षा 11 की छात्रा थी. वह पिछले करीब तीन महीनों से अपने परिवार के लिए नया घर आवंटित करवाने के लिए कई सरकारी दफ्तरों के चक्कर काट रही थी. परिवार ने फरवरी में कुछ गांव वालों के खिलाफ धमकाने और छेड़खानी के आरोप लगाते हुए शिकायत दर्ज करवाई थी. पूजा इस पूरे कांड की चश्मदीद गवाह भी थी.

पूजा के भाई जयदीप ने मीडिया को बताया कि उन्होंने शनिवार दोपहर को पूजा की गुमशुदगी की रिपोर्ट शिकरापुर पुलिस को दे दी थी. जिस कुएं में पूजा की लाश मिली है, वह भीमा कोरेगांव से करीब दो किलोमीटर दूर स्थित है. उन्होंने शक जताया कि कुछ स्थानीय गांव वालों ने उसकी हत्या करने के लिए उसे कुएं में ढकेल दिया होगा.

घटना के बाद एहतियात के तौर पर भारी संख्या में पुलिस बल सासून सरकारी अस्पताल में तैनात कर दिया गया है. घटना के बाद भारी तादाद में पुणे के ग्रामीण और शहरी इलाकों से लोग अस्पताल में जमा होने लगे. मामले की संवेदनशीलता को देखते हुए फोरेंसिंक डिपार्टमेंट ने रविवार देर रात शव का पोस्टमॉर्टम किया है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here